Browsing all articles tagged with Talat Aziz

Aaina Mujse Meri Paheli Si Surat Mange – Talat Aziz

Singer : Talat Aziz
Music: Rajesh Roshan

apne meri hone ki nishani mange
aaina mujse meri paheli surat mange

mera fan phir muje bazaar mein le aaya hai
yeh vo jagah ke jahan mero vafa bikate hain
baap bikate hain aur lakhte jigar bikate hain
kookh bikati hain dil bikate hain sar bikate hain
is badalti hui duniya ka khuda koi nahin
saste daamo pe yahan roz khuda bikate hain

har kharidaar ko bazaar mein bikataa paya
hum kya paayenge kisi ne yahaan kya paayaa
mere aheshas mere phool kahin aur chale
bol pujaa meri bachi kahin

आईना मुझ से मेरी पहेली सी सुरत माँगे

गायक : तलत अझीझ
संगीत : राजेश रोशन

आईना मुझसे मेरी पहेली सी सुरत माँगे
मेरे अपने मेरे होने की निशाानी माँगें

मैं भटकता ही रहा दर्द के विरान में
वक्त लिखता रहा चेहरे के हर पल का हिसाब
मेरी शोहरत मेरी दिवानगी की नझर होगी
पी गयी मय की बोतल मेरे गीतोँ की किताब
आज लौटा हूँ तो हँसने की अदा भूल गया
ये शहर भूला मुझे मैँ भी इसे भूल गया

मेरे अपने मेरे होने की निशाानी माँगें
आईना मुझसे मेरी पहेली सी सुरत माँगे

मेरा फन फ़िर मुझे बाझार में ले आया है
ये वह जां है के जहाँ महेरो वफ़ा बिकते हैं
बाप बिकते हैं और लख्ते जिगर बिकते हैं

कूख बीकती है दिल बिकता है सर बिकते हैं
इस बदलती हुई दुनिया का खुदा कोई नही
सस्ते दामो मे हर रोझ खुदा बिकते हैं

मेरे अपने मेरी होने की निशानी मांगे
आईना मुझसे मेरी पहेली सी सुरत माँगे

हर खरीदार को बाझार मे बिकता पाया
हम क्या पाएंगे किसीने यहा क्या पाया
मेरे एहसास मेरे फूल कहीं और चलें
बोल पूजा मेरी बच्ची कहीं और चलें

Chahenge Tuze Par Kabhi – Talat Aziz

Singer : Talat Aziz
Lyrics : Saeed Rahi

Chahenge tujhe par kabhi rusva na karenge
Saaye se bhi apane tera shikva na karenge

Poochenge havao se ghataao se tera haal
milne ko tere vaste aaya na karenge

Tu mil bhi gaya raah me bhule se jo mujko
milne ka dubara kabhi vada na karenge

Jis naam ki taajheem kiya karte hai parade
us naam ko divaar pe likha na karenge

चाहेंगे तुझे पर कभी रुस्वा न करेंगे – तलत अझीझ

स्वर : तलत अझीझ

शायर : सईद राही

चाहेंगे तुझे पर कभी रुस्वा न करेंगे
साये से भी अपने तेरा शिकवा न करेंगे

पूछेंगे हवाओँ से घटाओँ से तेरा हाल
मिलने को तेरे वास्ते आया न करेंगे

तु मिल भी गया राह में भुले से जो मुझको
मिलने का दुबारा कभी वादा न करेंगे

जिस नाम की ताझीम किया करते हैं परदे
उस नाम को दिवार पे लिखा न करेंगे

Kaise sukoon pau – Talat Aziz

Singer : Talat Aziz
Lyrics : Saeed shaheedi
Music : Jagjit Singh

Kaise sukoon pau, tujhe dekhne ke baad,
Ab kya ghazal sunau, tujhe dekhne ke baad.

Aavaz de rahi hai meri zindgi mujhe
Jaau ya na jaau tujhe dekhne ke baad

Kaabe ka ehteram bhi meri nazar mein hai,
Sar kis taraf jhukau, tujhe dekhne ke baad.

Teri nigaah-e-mast ne makhmoor kar diya,
Kya maikade ko jao, tujhe dekhne ke baad.

Nazron mein taab-e-deed hi baki nahin rahi,
Kis se nazar milau, tujhe dekhne ke baad.

Follow us on

GazalMehfil on Twitter GazalMehfil on Facebook Subscribe Daily Headlines GazalMehfil RSS Feeds Gazalmehfil On Mobile

Enter your email address:

Adverts

Adverts

Categories

Recent Posts

DISCLAIMER

This site has been created in appreciation of Hindi, Urdu gazals. & we are pleased to share this with all who love to listen them. If any of these gazals cause violation of the copyrights and is brought to my attention, I will remove the concerned gazals from the website promptly.

Tags

Networked Blogs

 

Visitor in the world.